पहले ही दिन बहुत स्‍वागत हुआ

इंटरनेट अभियान का पहले ही दिन बहुत स्‍वागत हुआ. आए जवाबों से प्रेरित होकर एक सामान्‍य से जाल स्‍थल की रूप रेखा बनी, हिन्‍दी भाषा डाट इंफो. www.HindiBhasha.info में हिन्‍दी जाल स्‍थल सूची प्रस्‍तुत करने की प्रक्रिया आरंभ हुई.

पहली नजर में इंटरनेट हिन्‍दी अस्‍तित्‍व वि‍हंगम स्‍वरूप कुछ ऐसा लगा - विभिन्‍न समूह (ग्रुप) जैसे गुगल, याहू आदि, जहां लोग बाग अपनी बात सामूहिक चर्चा के लिए प्रस्‍तुत करते हैं.
- चिट्ठा (ब्लाग) ज़हां व्यक्ति अपनी बात नियमित आधार पर प्रस्तुत करते हैं.
- जाल स्‍थल अनेकों तरह के अनेकों उद्देश्‍य वाले वितान स्‍थल
यहां एक बात सामने आई कि वेबसाइट के लिये जाल स्‍थल का प्रचलन है.
- संसूचियां जहॉं आप जाल स्‍थल एवं इंटरनेट संम्‍बधी जानकारी पाते हैं.
- इंटरनेट में सामने नजर आता है जाल स्‍थल परन्‍तु उसके पीछे एक विशाल संसार है तकनीक का. यथा फान्‍ट, ब्राउसर, आपरेटिंग सिस्‍टम आदि

सूची में जानकारियों को तात्‍कालिक आधार पर प्रस्‍तुत करने की शुरूआत हुई.

1 comment:

Pratik said...

कृपया मेरे चिट्ठों को भी हिन्‍दी वितान सूची में शामिल कर लीजिए -
http://www.hindiblogs.com/hindiblog
http://www.hindiblogs.com/timepass